1. यूं तो किसी चीज के मोहताज नहीं हम, बस एक तेरी आदत सी हो गई है।

2. इश्क की बात पर एक राय हो जाए, मोहतरमा तुम मिलो कभी तो गरम पकोड़े और एक कप चाय हो जाए।

3. शायरी का शौक यूँ ही नहीं पाला हमने एक शख्स को रूह में बसाया है तब जाकर ये हुनर आया है।

4. अब आप सामने हो तो कुछ भी नहीं है याद, वरना हमें आप से कुछ कहना जरुर था।

5. खुली किताब है कोई राज नहीं, ये सांवला रंग मेकअप का मोहताज नहीं।

6. इंसान चाहे कितना भी आम क्यों न हो, वो किसी ना किसी के लिए ख़ास होता है।

7. अब मुझे भला दुनिया से क्या मतलब, मेरी दुनिया तो अब तुझमें समा गई है।

8. सुकून मिलता है आपसे बातें करके मैं यूँ ही नही इंतजार करता आपके ऑनलाइन आने का।

9. ज्यादा तो नहीं पता लेकिन, तुम्हारे होने से अब जिंदगी खुबसूरत होने लगी है।

10. काश उनको कभी फुर्सत में ये ख्याल आए आए कि कोई याद करता उन्हें ज़िंदगी समझ कर।